रिपोर्टर मेघा तिवारी

छत्तीसगढ़ दंतेवाड़ा जिले के बचेली की रहने वाली एक पीड़ित महिला की दिल दहला देने वाली खबरें सामने आई है जहा घरेलू हिंसा की शिकार हो रही पीड़िता न्याय की गुहार लगा रही है आपको बता दें पीड़िता पर उसके ही पति द्वारा जो की बंगाली श्रीकाली पदसरकार किंदुल जिला दंतेवाड़ा का निवासी है पति द्वारा किए गए भयावह कृत उजागर किया है।

पीड़िता का कहना है कि पति पेशे से एक शिक्षक है जो कि बड़ी निर्दयता से उसके साथ भयावह कृत करता है महिला का कहना है कि पति उसके पैरो के बीच दो टेबल रखकर उसके दोनो हाथो को बांधकर और पीड़िता का मुंह कपड़े से बांध देता था और पीड़िता के अनुसार उसके प्राइवेट पार्ट में लकड़ी डालता था तथा महिला के वक्षस्थल को बड़ा करने के लिए खिड़की से उसके दोनो वक्षों को बांध देता था पीड़िता का यह भी कहना हैं की उसका पति उसे अपनी पेशाब और वाइट डिस्चार्ज भी जबरदस्ती पिलाता था मना करने पर उसे मारता पीटता व गालीगलोज भी करता है।

साथ ही दहेज की भी मांग करता था जिसमे उसने पीड़िता के परिवार से 25 हजार रुपए नगद और एक मोटर साईकिल की मांग की थी,पीड़िता ने ये भी बताया के उसके पति ने बिना तलाक दिए दूसरी शादी कर ली है ,पति उसे यह भी कहा करता था कि वह स्कूल शिक्षा प्रदान करने नहीं बल्कि छात्राओं के वक्षस्थल को देखने जाता है तथा घर पर महिला को शारीरिक पीड़ा भी देता है पीड़िता ने यह भी कहा है कि उन्होंने महिला आयोग कोर्ट कचहरी की भी दौड़ लगाई लेकिन उसे किसी भी तरह का कोई भी इंसाफ नहीं मिला है।

पीड़िता ने मोदी सरकार द्वारा बेटी बचाओ अभियान जो चलाया है उसपर नाराजगी जताते हुए यह भी कहा हैं की 30 सालो से जो बेटी न्याय के लिए रो रही है उसके लिए सरकार ने क्या किया है मेरी जैसी और भी कई बेटियां हैं जो न्याय के लिए दरदर भटक रही है । पीड़िता ने थकहार कर मोदी सरकार राष्ट्रपति और छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री से न्याय की भीख मांगी है और पीड़िता इच्छा मृत्यु की भी याचना कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here